गीत – ओ राधा तेरे बिना तेरा श्याम है आधा
फ़िल्म – राधा का संगम (1992)
संगीतकार – अनु मलिक
गीतकार – हसरत जयपुरी
गायक – लता मंगेशकर, शब्बीर कुमार

राधा का संगम‘ (1992) फ़िल्म को गोविन्दा के बड़े भाई कीर्ति कुमार ने प्रोड्यूस और डायरेक्ट किया था। उन्होंने इस फ़िल्म में अभिनय किया था और गाने भी गाये थे। मुख्य भूमिकाओं में गोविन्दा और जूही चावला थे। जब यह फ़िल्म बन रही थी उन्हीं दिनों आर के फ़िल्म्स के बैनर तले रणधीर कपूरहिना‘ बना रहे थे, जिसमें ऋषि कपूर और पाकिस्तानी नायिका ज़ेबा बख़्तियार थे। फ़िल्म की सहनायिका के रूप में रणधीर कपूर जूही चावला को लेना चाह रहे थे। जूही ने इंकार करते हुये जब बताया कि कीर्ति कुमार नहीं चाहते हैं कि मैं सहनायिका बनूँ। रणधीर कपूर को बड़ा आश्चर्य हुआ और हँसी भी आयी कि यह कीर्ति कुमार कौन है जो तुम्हें आर के फ़िल्म्स में काम ना करने की सलाह दे रहा है? बहरहाल ‘हिना’ में वह भूमिका अश्विनी भावे ने निभाई और ‘राधा का संगम’ ने टिकिट खिड़की पर पानी भी नहीं माँगा।

Lata Mangeshkar Interview Kishore Kumar

‘राधा का संगम’ में अनु मलिक ने बड़े सुरीले गीत बनाये थे जो फ़िल्म के पिटने से बेकार चले गये। टी सिरीज़ ने फ़िल्म के म्यूज़िक राइट्स ख़रीदें थे। वहाँ से ज़ोर था कि गाने अनुराधा पोडवाल से गवाये जायें। यहाँ तक तो बात ठीक थी पर वे गोविन्दा और कीर्ति कुमार पर दबाव डाल रहे थे कि जो दो तीन गाने लता मंगेशकर की आवाज़ में रिकार्ड हो चुके हैं, उन्हें भी अनुराधा पोडवाल की आवाज़ में डब कर लिया जाये। ख़ुदा का शुक्र है कि ऐसा नहीं हुआ। लेकिन बरसों बरस गायन के क्षेत्र में एकछत्र राज्य करने वाली ‘महारानी’ के ये दिन भी आ सकते हैं, यह सबके लिये घनघोर आश्चर्य की बात थी।

हवा में उड़ता जाये मेरा लाल दुपट्टा मलमल का हो जी हो जी-बरसात (1949)

‘हिना’ के संगीत के लिये कुछ संगीतकारों के नाम पर विचार चल रहा था। उनमें एक अनु मलिक भी थे। अनु मलिक ने कुछ धुनें बना कर सुनाई। उनके मामा हसरत जयपुरी ने उन धुनों पर गीत लिखे। पर बात बनी नहीं और ‘हिना’ रवीन्द्र जैन के हिस्से में चली गयी। ‘हिना’ के लिये हसरत जयपुरी ने एक गीत ‘ओ हिना तेरे बिना’ लिखा था। उस गीत को थोड़ा फेरबदल कर इस मामा भांजे की जोड़ी ने ‘राधा का संगम’ में इस्तेमाल कर लिया -‘ओ राधा तेरे बिना, तेरा श्याम है आधा’

साभार:- श्री रवींद्रनाथ श्रीवास्तव जी।

Comments