गीत – तुम मेरे प्यार की दुनिया में बसी हो जब से,
ज़र्रे ज़र्रे में मुझे प्यार नज़र आता है
फ़िल्म – बाम्बे टाॅकी (1970)
संगीतकार – शंकर जयकिशन
गीतकार – हसरत जयपुरी
गायक – मोहम्मद रफ़ी

बाम्बे टाॅकी‘ (1970) प्रोड्यूसर इस्माइल मर्चेण्ट और डायरेक्टर जेम्स आइवरी की एक अंग्रेज़ी फ़िल्म थी। फ़िल्मी सितारों की सूची देख कर यह एक टिपिकल हिन्दी बाॅलीवुड मूवी लगती है – शशि कपूर, अपर्णा सेन, नादिरा, उत्पल दत्त, पिंचू कपूर, जलाल आगा, सुलोचना, उषा अय्यर और हेलन। केवल एक नाम है जो इसे रुटीन मसाला मूवी से अलग करता है वह है ‘जेनिफ़र कैण्डल‘ याने जेनिफ़र कपूर याने श्रीमती शशि कपूर। ये इस फ़िल्म की हीरोइन थीं। जब जेम्स आइवरी ने शशि कपूर से कहा कि फ़िल्म में ‘किस सीन्स’ और ‘इण्टीमेट सीन्स’ हैं तो इसके लिये हामी भरते समय शशि कपूर ने नहीं सोचा था कि यह कितना कठिन होगा। एक इंटरव्यू में उन्होंने हँसते हुये कहा था कि इतने सारे लोगों के सामने अपनी बीवी से अंतरंग दृश्य करना बड़ा अजीब लग रहा था । जेनिफ़र चूँकि बेहतर अदाकारा थीं उन्हें इसमें कुछ अटपटा नहीं लगा । वे पूरी तौर पर सहज थीं ।

Shashi Kapoor: The Suave Charmer

‘बाम्बे टाॅकी’ बालीवुड की कहानी थी। शशि कपूर इसमें एक फ़िल्मी हीरो की भूमिका निभा रहे थे। इसमें उनके साथ हेलन पर हिन्दी फ़िल्मों का एक टिपिकल नृत्य दृश्य फ़िल्माना था। इस्माइल मर्चेण्ट और जयकिशन अच्छे दोस्त थे। शंकर जयकिशन ख़ुशी से फ़िल्म का संगीत रचने तैयार हो गये। हेलन और शशि कपूर का टाइपराइटर पर फ़िल्माये जाने वाले डाँस के लिये हसरत जयपुरी ने ‘टाइपराइटर टिक टिक टिक टिक करता है, ज़िन्दगी की हर कहानी कहता है’ लिखा, जिसे आशा भोंसले और किशोर कुमार ने पूरे मस्ती भरे अन्दाज़ में गाया । ‘ बाम्बे टाॅकी ‘ में एक छोटी भूमिका उषा उत्थुप की भी थी जो उस समय उषा अय्यर थीं । उनका गाया एक अंग्रेज़ी गीत भी था जिसमें बीच बीच में वे ‘ हरि ओम तत्सत् ‘ की हाँक लगाती थीं । यह उन पर ही फ़िल्माया गया था ।

Lata Mangeshkar Interview Kishore Kumar

दत्ताराम (दत्तू वाडकर) शंकर जयकिशन के असिस्टेण्ट थे। साथ ही उन्होंने स्वतंत्र रूप से भी कुछ फ़िल्मों में बड़ा ख़ूबसूरत संगीत दिया था जैसे – परवरिश, अब दिल्ली दूर नहीं, श्रीमान सत्यवादी, ज़िन्दगी और ख़्वाब‘ आदि। ‘बाम्बे टाॅकी’ में एक फ़िल्मी गाने की रिकार्डिंग का दृश्य दिखलाना था। गीत मोहम्मद रफ़ी की आवाज़ में था पर फ़िल्म में जिस गायक को यह गीत गा कर रिकार्ड कराते दिखाया गया उसके रोल में संगीतकार दत्ताराम थे । फ़िल्म में गीत का एक छोटा अंश ही शामिल किया गया था। वीडियो में उस दृश्य के साथ फ़िल्म के कुछ अन्य दृश्य जोड़ कर पूरा गीत बनाया गया है – तुम मेरे प्यार की दुनिया में बसी हो जब से, ज़र्रे ज़र्रे में मुझे प्यार नज़र आता है।

साभार:- श्री रवींद्रनाथ श्रीवास्तव जी।

Comments